किसानों के दिल्ली कूच को लेकर सिंघु बॉर्डर पर बढ़ी चौकसी, रोकने के लिए तैनात रहेंगे तीन हजार जवान - SURGUJA TIMES
ताजा खबर

किसानों के दिल्ली कूच को लेकर सिंघु बॉर्डर पर बढ़ी चौकसी, रोकने के लिए तैनात रहेंगे तीन हजार जवान

दिल्ली पुलिस और अर्धसैनिक बल के करीब 3000 जवान होंगे। कई ड्रोन और सीसीटीवी कैमरों से भी निगरानी रखी जाएगी। टायर किलर क्रेन हाइड्रोलिक मशीनें भी लाई जा रही हैं। मुकरबा चौक से सिंघु बॉर्डर तक हाईवे पर लगे सीसीटीवी कैमरों की जांच की जा रही है। खराब सीसीटीवी सही किए जा रहे हैं। साथ ही सीमेंट ब्लाक के कई बैरिकेड्स लगाए जा रहे हैं।

किसानों के दिल्ली कूच को लेकर सिंघु बॉर्डर पर बढ़ी चौकसी, रोकने के लिए तैनात रहेंगे तीन हजार जवान
रिपोर्टर महेंद्र सिंह लहरिया
दिल्ली पुलिस और अर्धसैनिक बल के करीब 3000 जवान होंगे। कई ड्रोन और सीसीटीवी कैमरों से भी निगरानी रखी जाएगी। टायर किलर क्रेन हाइड्रोलिक मशीनें भी लाई जा रही हैं। मुकरबा चौक से सिंघु बॉर्डर तक हाईवे पर लगे सीसीटीवी कैमरों की जांच की जा रही है। खराब सीसीटीवी सही किए जा रहे हैं। साथ ही सीमेंट ब्लाक के कई बैरिकेड्स लगाए जा रहे हैं।
रिपोर्टर महेंद्र सिंह लहरिया किसानों के दिल्ली कूच को लेकर सिंघु बॉर्डर पर बढ़ी चौकसी, रोकने के लिए तैनात रहेंगे तीन हजार जवान दिल्ली पुलिस और अर्धसैनिक बल के करीब 3000 जवान होंगे। कई ड्रोन और सीसीटीवी कैमरों से भी निगरानी रखी जाएगी। टायर किलर क्रेन हाइड्रोलिक मशीनें भी लाई जा रही हैं। मुकरबा चौक से सिंघु बॉर्डर तक हाईवे पर लगे सीसीटीवी कैमरों की जांच की जा रही है। खराब सीसीटीवी सही किए जा रहे हैं। साथ ही सीमेंट ब्लाक के कई बैरिकेड्स लगाए जा रहे हैं। बाहरी दिल्ली। किसान आंदोलन के तहत 13 फरवरी को दिल्ली कूच चलते पुलिस ने सिंघु बॉर्डर पर चौकसी बढ़ा दी है। फिलहाल यहां दिल्ली पुलिस व अर्धसैनिक बल के 150 जवान तैनात कर दिए गए हैं। जरूरत के हिसाब से जवानों की संख्या तीन हजार तक बढ़ाई जा सकती है। लगाए जा रहे बैरिकेड्स सीमेंट ब्लाक के कई बैरिकेड्स लगाए जा रहे हैं। शनिवार को जीटी करनाल हाईवे का पुलिस के आलाधिकारियों ने जायजा लेकर इंतजाम पुख्ता रखने का निर्देश दिया। हरियाणा से दिल्ली की सीमा में आने-जाने वालों पर नजर रखी जा रही है। सीसीटीवी कैमरों से होगी निगरानी एक पुलिस अधिकारी ने बताया है कि सिंघु बार्डर पर 16 कंपनियां तैनात होंगी, जिसमें दिल्ली पुलिस और अर्धसैनिक बल के करीब 3000 जवान होंगे। कई ड्रोन और सीसीटीवी कैमरों से भी निगरानी रखी जाएगी। टायर किलर, क्रेन, हाइड्रोलिक मशीनें भी लाई जा रही हैं। मुकरबा चौक से सिंघु बॉर्डर तक हाईवे पर लगे सीसीटीवी कैमरों की जांच की जा रही है। खराब सीसीटीवी सही किए जा रहे हैं। स्थिति की समीक्षा के बाद पुलिस और अर्धसैनिक बलों की तैनाती एवं अन्य प्रबंधों के बारे में निर्णय लिया जा चुका है। सिंघु बार्डर पर अगले एक से दो दिन में ड्रोन से निगरानी से लेकर वाटर कैनन, टायर किलर की तैनाती की भी उम्मीद है। दिल्ली पुलिस की सभी यूनिट, यानी स्पेशल सेल, अपराध शाखा, स्पेशल ब्रांच के पुलिस अधिकारियों व पुलिसकर्मियों को सुरक्षा में लगाया जाएगा। इनमें आफिस आदि में काम करने वाले पुलिसकर्मी एवं पुलिस अधिकारी भी शामिल हैं। इन यूनिटों में काम करने वाले पुलिसकर्मियों को वर्दी में ड्यूटी आने के लिए कहा गया है। पुलिस अधिकारियों के अस्थायी कार्यालय और कंट्रोल रूम बनाए सोनीपत में सिंघु और औचंदी बॉर्डर पर शनिवार को ड्रोन उड़ाया गया और वीडियोग्राफी की रिहर्सल की गई। दिल्ली पुलिस ने एक किमी क्षेत्र में सीसीटीवी और लाउड स्पीकर लगाए। टेंट में अस्थायी कार्यालय और कंट्रोल रूम बनाए। वज्र वाहन भी पहुंच गए हैं। सिंघु बॉर्डर पर 250 सीमेंट ब्लाक के बैरिकेड मंगा लिए गए हैं। बार्डर के एक किमी क्षेत्र में सीसीटीवी लगाने के साथ 600 पुलिस जवानों को विशेष ट्रेनिंग दी गई और दो कंपनी पैरामिलिट्री सोनीपत पहुंच गई हैं। हरियाणा के सात जिलों में रविवार से इंटरनेट सेवाएं ठप किसान संगठनों को पंजाब में रोकने के लिए शंभु बार्डर सहित अंबाला-अमृतसर और चंडीगढ़ हाईवे बंद पूरी तरह से सील कर दिया गया। अंबाला, कुरुक्षेत्र, कैथल, जींद, हिसार, फतेहाबाद, सिरसा में तीन दिन तक रविवार सुबह छह बजे से इंटरनेट सेवा बंद रखने का फैसला लिया गया।
रिपोर्टर महेंद्र सिंह लहरिया
किसानों के दिल्ली कूच को लेकर सिंघु बॉर्डर पर बढ़ी चौकसी, रोकने के लिए तैनात रहेंगे तीन हजार जवान
दिल्ली पुलिस और अर्धसैनिक बल के करीब 3000 जवान होंगे। कई ड्रोन और सीसीटीवी कैमरों से भी निगरानी रखी जाएगी। टायर किलर क्रेन हाइड्रोलिक मशीनें भी लाई जा रही हैं। मुकरबा चौक से सिंघु बॉर्डर तक हाईवे पर लगे सीसीटीवी कैमरों की जांच की जा रही है। खराब सीसीटीवी सही किए जा रहे हैं। साथ ही सीमेंट ब्लाक के कई बैरिकेड्स लगाए जा रहे हैं।
बाहरी दिल्ली।
किसान आंदोलन के तहत 13 फरवरी को दिल्ली कूच चलते पुलिस ने सिंघु बॉर्डर पर चौकसी बढ़ा दी है। फिलहाल यहां दिल्ली पुलिस व अर्धसैनिक बल के 150 जवान तैनात कर दिए गए हैं। जरूरत के हिसाब से जवानों की संख्या तीन हजार तक बढ़ाई जा सकती है।
लगाए जा रहे बैरिकेड्स
सीमेंट ब्लाक के कई बैरिकेड्स लगाए जा रहे हैं। शनिवार को जीटी करनाल हाईवे का पुलिस के आलाधिकारियों ने जायजा लेकर इंतजाम पुख्ता रखने का निर्देश दिया। हरियाणा से दिल्ली की सीमा में आने-जाने वालों पर नजर रखी जा रही है।
सीसीटीवी कैमरों से होगी निगरानी
एक पुलिस अधिकारी ने बताया है कि सिंघु बार्डर पर 16 कंपनियां तैनात होंगी, जिसमें दिल्ली पुलिस और अर्धसैनिक बल के करीब 3000 जवान होंगे। कई ड्रोन और सीसीटीवी कैमरों से भी निगरानी रखी जाएगी। टायर किलर, क्रेन, हाइड्रोलिक मशीनें भी लाई जा रही हैं। मुकरबा चौक से सिंघु बॉर्डर तक हाईवे पर लगे सीसीटीवी कैमरों की जांच की जा रही है।
खराब सीसीटीवी सही किए जा रहे हैं। स्थिति की समीक्षा के बाद पुलिस और अर्धसैनिक बलों की तैनाती एवं अन्य प्रबंधों के बारे में निर्णय लिया जा चुका है। सिंघु बार्डर पर अगले एक से दो दिन में ड्रोन से निगरानी से लेकर वाटर कैनन, टायर किलर की तैनाती की भी उम्मीद है।
दिल्ली पुलिस की सभी यूनिट, यानी स्पेशल सेल, अपराध शाखा, स्पेशल ब्रांच के पुलिस अधिकारियों व पुलिसकर्मियों को सुरक्षा में लगाया जाएगा। इनमें आफिस आदि में काम करने वाले पुलिसकर्मी एवं पुलिस अधिकारी भी शामिल हैं। इन यूनिटों में काम करने वाले पुलिसकर्मियों को वर्दी में ड्यूटी आने के लिए कहा गया है।
पुलिस अधिकारियों के अस्थायी कार्यालय और कंट्रोल रूम बनाए
सोनीपत में सिंघु और औचंदी बॉर्डर पर शनिवार को ड्रोन उड़ाया गया और वीडियोग्राफी की रिहर्सल की गई। दिल्ली पुलिस ने एक किमी क्षेत्र में सीसीटीवी और लाउड स्पीकर लगाए। टेंट में अस्थायी कार्यालय और कंट्रोल रूम बनाए। वज्र वाहन भी पहुंच गए हैं।
सिंघु बॉर्डर पर 250 सीमेंट ब्लाक के बैरिकेड मंगा लिए गए हैं। बार्डर के एक किमी क्षेत्र में सीसीटीवी लगाने के साथ 600 पुलिस जवानों को विशेष ट्रेनिंग दी गई और दो कंपनी पैरामिलिट्री सोनीपत पहुंच गई हैं।
हरियाणा के सात जिलों में रविवार से इंटरनेट सेवाएं ठप
किसान संगठनों को पंजाब में रोकने के लिए शंभु बार्डर सहित अंबाला-अमृतसर और चंडीगढ़ हाईवे बंद पूरी तरह से सील कर दिया गया। अंबाला, कुरुक्षेत्र, कैथल, जींद, हिसार, फतेहाबाद, सिरसा में तीन दिन तक रविवार सुबह छह बजे से इंटरनेट सेवा बंद रखने का फैसला लिया गया।
बाहरी दिल्ली।
किसान आंदोलन के तहत 13 फरवरी को दिल्ली कूच चलते पुलिस ने सिंघु बॉर्डर पर चौकसी बढ़ा दी है। फिलहाल यहां दिल्ली पुलिस व अर्धसैनिक बल के 150 जवान तैनात कर दिए गए हैं। जरूरत के हिसाब से जवानों की संख्या तीन हजार तक बढ़ाई जा सकती है।
लगाए जा रहे बैरिकेड्स
सीमेंट ब्लाक के कई बैरिकेड्स लगाए जा रहे हैं। शनिवार को जीटी करनाल हाईवे का पुलिस के आलाधिकारियों ने जायजा लेकर इंतजाम पुख्ता रखने का निर्देश दिया। हरियाणा से दिल्ली की सीमा में आने-जाने वालों पर नजर रखी जा रही है।
सीसीटीवी कैमरों से होगी निगरानी
एक पुलिस अधिकारी ने बताया है कि सिंघु बार्डर पर 16 कंपनियां तैनात होंगी, जिसमें दिल्ली पुलिस और अर्धसैनिक बल के करीब 3000 जवान होंगे। कई ड्रोन और सीसीटीवी कैमरों से भी निगरानी रखी जाएगी। टायर किलर, क्रेन, हाइड्रोलिक मशीनें भी लाई जा रही हैं। मुकरबा चौक से सिंघु बॉर्डर तक हाईवे पर लगे सीसीटीवी कैमरों की जांच की जा रही है।
खराब सीसीटीवी सही किए जा रहे हैं। स्थिति की समीक्षा के बाद पुलिस और अर्धसैनिक बलों की तैनाती एवं अन्य प्रबंधों के बारे में निर्णय लिया जा चुका है। सिंघु बार्डर पर अगले एक से दो दिन में ड्रोन से निगरानी से लेकर वाटर कैनन, टायर किलर की तैनाती की भी उम्मीद है।
दिल्ली पुलिस की सभी यूनिट, यानी स्पेशल सेल, अपराध शाखा, स्पेशल ब्रांच के पुलिस अधिकारियों व पुलिसकर्मियों को सुरक्षा में लगाया जाएगा। इनमें आफिस आदि में काम करने वाले पुलिसकर्मी एवं पुलिस अधिकारी भी शामिल हैं। इन यूनिटों में काम करने वाले पुलिसकर्मियों को वर्दी में ड्यूटी आने के लिए कहा गया है।
पुलिस अधिकारियों के अस्थायी कार्यालय और कंट्रोल रूम बनाए
सोनीपत में सिंघु और औचंदी बॉर्डर पर शनिवार को ड्रोन उड़ाया गया और वीडियोग्राफी की रिहर्सल की गई। दिल्ली पुलिस ने एक किमी क्षेत्र में सीसीटीवी और लाउड स्पीकर लगाए। टेंट में अस्थायी कार्यालय और कंट्रोल रूम बनाए। वज्र वाहन भी पहुंच गए हैं।
सिंघु बॉर्डर पर 250 सीमेंट ब्लाक के बैरिकेड मंगा लिए गए हैं। बार्डर के एक किमी क्षेत्र में सीसीटीवी लगाने के साथ 600 पुलिस जवानों को विशेष ट्रेनिंग दी गई और दो कंपनी पैरामिलिट्री सोनीपत पहुंच गई हैं।
हरियाणा के सात जिलों में रविवार से इंटरनेट सेवाएं ठप
किसान संगठनों को पंजाब में रोकने के लिए शंभु बार्डर सहित अंबाला-अमृतसर और चंडीगढ़ हाईवे बंद पूरी तरह से सील कर दिया गया। अंबाला, कुरुक्षेत्र, कैथल, जींद, हिसार, फतेहाबाद, सिरसा में तीन दिन तक रविवार सुबह छह बजे से इंटरनेट सेवा बंद रखने का फैसला लिया गया।

MAHENDRA SINGH LAHARIYA

“Designation” .Tehsil Reporter .From-GOPALPURA MORENA, MP-476001 .Whatsapp & Call +919039978991

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!